Love-quotes-in-hindi-with-images.png
Love quotes in Hindi | Love quotes in hindi with images | Images of love shayari in hindi
ना जाने कौन सा वायरस है तेरी यादों में ,
तुझे सोच कर अक्सर हैंग हो जाती हूँ 

 

उसने तारीफ ही कुछ इस अंदाज से की मेरी ,
अपनी ही तस्वीर को सौ बार देखा मैंने 

 

सांसो की तरह शामिल हो मुझमें ,
साथ ही रहते हो ….. और …..  ठहरते भी नहीं 

 

इरादा तो सिर्फ दोस्ती का था ,
ना जाने कब मोहब्बत हो गयी 

 

अगर निभाने की चाहत हो दोनों तरफ से तो
कोई भी रिश्ता नाकाम नहीं होता 

 

सुना था लोगों से कि वक्त बदलता है ,
और अब वक्त ने बताया कि लोग भी बदलते हैं। 
तुम जो कहते हो ना कि खुश रहा करो ,
तो फिर सुन लो हमेशा मेरे साथ रहा करो 

 

तेरे इश्क पे ,तेरे वक्त पे ,
बस हक़ है मेरा 

 

एक उम्र गुजारी तेरी ख़ामोशी को पढ़ते हुए ,
एक उम्र गुजार देंगे तुझे महसूस करते हुए 

 

कितनी मासूम है ये दिल की धड़कने ,
कोई सुने या न सुने ये खामोश नहीं रहती 

 

शायद मेरी वफ़ा में ही कोई कमी रही होगी ,
वो शख्स जो छह कर भी मेरा न हो सका 

 

गलत सुना था कि इश्क तो आँखों से होता है ,
दिल तो वो भी ले जाते हैं जो पलक तक नहीं उठाते 

 

तन्हाई कोई शब्द नहीं एक सजा है ,
किसी का साथ चाहने की 
काश वो आ जाये और कहे ‘ओये हम मर गए हैं क्या’
जो इतना उदास रहते हो 

 

तुमसे  मिलना ही अब तो खवाब सा लगता है 
हमने तो तेरे इंतज़ार से ही मुहब्बत कर ली 

 

मुझे आदत नहीं हर किसी पर मर मिटने की ,
पर तुझे देख कर दिल ने सोचने तक की मोहलत न दी 

 

मुश्किल भी तुम हो हल भी तुम हो 
होती है दिल  में जो हलचल  वो भी तुम हो 

 

कमजोरियां ना खोज मुझमें मेरे ऐ दोस्त ,
एक तू भी शामिल है मेरी कमजोरियों में 

 

मुझे छोड़ कर वो खुश है तो शिकायत कैसी 
और मैं उसे खुश भी ना देख पाऊं तो मुहब्बत कैसी 
काश जो दिल में होता है 
वही किस्मत में भी होता 
 
लगाकर आग सीने में चले हो तुम कहाँ 
अभी तो राख उड़ने दो तमाशा और होना है 
 
जिस्म साबित है लेकिन जेहन ख़ाक हो चूका है 
कुछ ऐसी तलब है तेरी कि मुझमें बाकी सब राख हो चुका है। 
इश्क सभी को जीना सिखा देता है 
वफ़ा के नाम पे मरना सिखा देता है 
 
 
अफ़सोस होता है उस पल जब अपनी पसंद कोई और चुरा लेता है 
ख्वाब हम देखते हैं और हकीकत कोई और बना लेता है 
मेरा और चाँद का नसीब एक  जैसा है 
वो तारो में तन्हा और मैं हजारों में तन्हा 
 
तू दूर है मुझसे और पास भी है ,तेरी कमी का मुझे एहसास भी है 
दोस्त तो लाखों हैं जहां में मेरे पर तू प्यारा भी है और ख़ास भी 
 
चलो उसका नहीं तो खुदा का एहसान लेते हैं 
वो मिन्नत से ना माना तो मन्नत से मांग लेते हैं 
 
याद कर लेना मुझे तुम कोई भी जब पास ना हो 
चले आएंगे एक आवाज़ में भले ही हम ख़ास ना हों 
 
 
होंगे वो  कोई और जिन्हे मुहब्बत की कदर नहीं ,
हम जिन्हे चाहते हैं उन्हें जिंदगी बना लेते हैं 
दिल के रिश्ते तो किस्मत से बनते हैं 
वरना तो मुलाकात तो हजारों से होती है 
 
 
ना प्यार काम हुआ है ना ही प्यार का अहसान ,
बस उसके बिना जिंदगी काटने की आदत हो गयी 
 
हमें दिल हारने की बीमारी ना होती ,
अगर आपकी दिल जीतने की अदा इतनी प्यारी ना होती 
 
 
 
समंदर से कहो अपनी लहरें संभाल के रखे 
मेरे अपने ही बहुत हैं जिंदगी में तूफ़ान लाने के लिए 
मुझसे बेहतर की चाहत तुझे ले डूबेगी 
तू बिलकुल चाँद की तरह है 
नूर भी, गरूर भी और दूर भी 
 
मत फेर बहते पानी में उंगलिया ,
सारा दरिया शराब  जायेगा 
 
सांसों के सिलसिले को ना दो जिंदगी का नाम ,
जीने के बावजूद भी मर जाते हैं कुछ लोग 
 
ठुकरा दो अगर दे कोई जिल्लत से समंदर ,
इज़्ज़त से जो मिल जाये वो कतरा ही बहुत है 
 
सोच रहा हूँ करूँ भी तो क्या करूँ 
आज ये दिल  दीदार की ज़िद्द लेकर बैठा है। 
इश्क अधूरा रह जाए तो खुद पे  नाज़ करना ,
कहते हैं सच्ची मुहब्बत मुकम्मल नहीं  होती।
 
बिखरते जाते हैं ख़याल ज़हन के फटे थैले से
मेरे जज़्बात बता  देंगे मैं कहाँ कहाँ से गुज़ारा हूँ
 
बहुत खूबसूरत हैं आँखे तुम्हारी इन्हे बना दो किस्मत हमारी
हमें नहीं चाहिए जमाने की खुशियां अगर मिल जाए मुहब्बत तुम्हारी
 
जाम पे जाम  पीने से क्या फायदा
रात  गुज़री तो उतर जाएगी
किसी की आँखों से पियो खुदा  कसम
उमर सारी नशे में गुज़र जाएगी
 
कहानी नहीं ज़िन्दगी चाहिए
तुझसे नहीं तू चाहिए।
 
 ना रूठना हमसे  हम मर जाएंगे
दिल की दुनिया तबाह कर जायेंगे
मुहब्बत की है हमने कोई मज़ाक नहीं
दिल की धड़कन तेरे नाम कर जाएंगे।
 
जब हौसला बना लिया ऊंची उड़ान का
फिर देखना फिजूल है कद आसमान का।
 
रात के अँधेरे में तो हर कोई किसी को याद कर लेता है
सुबह उठते ही जिसकी याद  आये मुहब्बत उसको कहते हैं।
 
तलब ऐसी की साँसों में समा लू तुझे
किस्मत ऐसी की देखने को मोहताज़ हूँ तुझे।
 
अजीब सिलसिला था वो दोस्ती का साहब जो
कुछ दूर चला और इश्क में बदल गया।
थक सा गया तेरी चाहतो का वज़ूद
अब कोई अच्छा भी लगे तो इज़हार नहीं करते।
 
तू पास नहीं तो क्या हुआ मुहब्बत तो हम
तेरी दूरियों से भी करते हैं।
 
कमाल करते हैं हमसे जलने वाले
महफ़िल खुद की चर्चे हमारे।
 
हम तो खुशियां उधार देने का कारोबार करते हैं
कोई वक्त पे लौटता नहीं है इसीलिए घाटे में हैं।
 
धीरे धीरे सब दूर होते गए
वक्त के आगे मज़बूर होते गए
रिश्तो में हमने ऐसी चोट खायी कि
बस हम बेवफा और सब बेक़सूर होते गए।
 
इक तू ही है जो मेरे दिल के करीब है
तेरा प्यार ही मेरा सच्चा  नसीब है 
हारे हैं हम अब तक अपनी ज़िन्दगी में
तेरा होना ही ज़िन्दगी की जीत है।
 
तेरे चेहरे के हजारो चाहने वाले
तेरी रूह का मैं  अकेला दीवाना।
 
अगर फितरत हमारी सहने की नहीं होती
तो हिम्मत तुम्हारी कुछ कहने की नहीं होती।
 
इक महबूब बेपरवाह सा ,इक मुहब्बत बेपनाह सी
दोनों काफी हैं सुकून बर्बाद करने को।
 
तुम साथ नहीं तो क्या ग़म है

बस तुम्हे देख पाते हैं, ये भी क्या कम है।

मैंने यादें उठाकर देखीं थीं आज …..  एक दिन तुम मेरे थे

 

पूरे की ख्वाहिश में इंसान बहुत कुछ खोता है ,
भूल जाता है कि आधा चाँद भी खूबसूरत होता है

 

कुछ फासले तुम भी मिटाओ
हम तुम तक आएं भी तो कहाँ तक आएं 

 

इरादे मेरे हमेशा साफ़ होते हैं ,
इसलिए कई लोग मेरे खिलाफ होते हैं

 

हम समझदार इतने की उनका हर झूठ पकड़ लेते हैं ,
और उनके दीवाने भी इतने कि फिर भी उनपे यकीन कर लेते हैं

 

दो ही गवाह थे मेरी मोहब्बत के  …..  वक्त और सनम ,
एक गुज़र गया दूसरा मुकर गया

 

कसूर नहीं इसमें कुछ भी उनका ,
हमारी चाहत ही इतनी थी कि उन्हें गरूर आ गया

 

मैं तो फना हो गया उसकी एक झलक देख कर ,
ना जाने हर रोज आइने पर क्या गुजरती होगी

 

एक वफ़ा की ही कमी थी साहब ,
बाकी मेरा यार कमाल का था

 

हमेशा याद रखना बेहतर दिनों के लिए ,
बुरे दिनों से लड़ना पड़ता है

 

ऐसे ही गुज़ार ली जिंदगी मैंने ,
कभी खुदा की रज़ा समझ कर ,
कभी अपने गुनाहों की सज़ा समझ कर
 
 
कोई तुमसे सीखे मौजूद रहना मुझमें
 
मुझको छोड़ने की वजह तो बता देते ,
मुझसे नाराज थे या मुझ जैसे हज़ारों थे
 
 
 
मिटटी का बना हूँ महक उठूंगा …. बस
तू एक बार बेइंतहां बरस के तो देख
 
शिकायतों की पाई पाई जोड़कर रखी थी मैं ,
उसने गले लगा कर सारा हिसाब बिगाड़ दिया
 
क़द्र करना सीख लो कोई बार बार नहीं आता जिंदगी में
 
इस साल का सफर कुछ यूं गुज़र गया ,
कुछ अपने अनजाने हो गए और कुछ अनजानो को अपना कर गया
 
मुझे क्या , तुम्हे क्या , हमें क्या
और बस रिश्ते धीरे धीरे खत्म
 
कमजोर तेरा वक्त है तू नहीं
 
अपनी हर फतह पर इतना गुरूर मत कर ,
मिटटी से पूंछ कि आज कल सिकंदर कहाँ है
 
यूं चहरे पर उदासी न ओढ़िये साहब ,
वक्त जरूर तकलीफ का है लेकिन कटेगा मुस्कराने से ही
सबको प्यारी हे अपनी ज़िन्दगी
पर तु मुझे ज़िन्दगी से भी प्यारी है.
 
 
दुनिया के लिए तुम एक इंसान हो, 
लेकिन एक इंसान के लिए तुम पूरी दुनिया हो.
 
 
 
अच्छा लगता है.. जब मेरे बिना कुछ कहे … बस मुझे देख कर.. तुम्हारे चेहरे पर मुस्कान आ जाती हैं…
 
 
 
मुझे जन्नत नहीं चाहिए क्योंकि मुझे तुम मिल गयी हो. 
मुझे सपने नहीं चाहियें क्योंकि तुम ही मेरा सपना हो!
 
 
 
तुम्हें एहसास ही नही कितना इश्क़ है तुमसे
बस रोज थोड़ा और तुमसे जुड़ते जाते हैं हम.
 
 
 
कौन कहता है कि मुसाफिर ज़ख़्मी नहीं होते,
रास्ते गवाह है बस गवाही नहीं देते.
 
 
लफ़्ज़ों से कहाँ लिखी जाती है ये बेचैनियां मोहब्बत की,
मैंने तो हर बार तुम्हे दिल की गहराईयो से पुकारा है।
 
 
 
मै जिंदगी गिरवी रख दुंगा,
तु सीर्फ किमत बता मुस्कुराने 😊 की.  😛 
 
सुन बस एक ही ख्वाहिश है,की तुझे खुद से ज्यादा चाहूँ,
मैं रहू या ना रहू मेरी वफ़ा हंमेशा याद रहेगी।
 
 
तेरी यादोँ के ‘नशे’ मेँ, अब ‘चूर’ हो रहा हूँ,
लिखता हूँ ‘तुम्हेँ’ और, ‘मशहूर’ हो रहा हूँ.
 
 
निगाह ए इश्क़ का अजीब ही शौक देखा
तुम ही को देखा और बेपनाह देखा
 
 
एक तो सुकुन और एक तुम,
कहाँ रहते हो आजकल मिलते ही नही.
 
मेरी ख्वाहिशें हजारों है..
लेकिन जरुरत सिर्फ तुम.
 
ख़ुदकुशी हराम है साहब. 😏
मेरी मानो तो इश्क़ 💏 कर लो. 🙍
 
 
अंग्रेजी की किताब 📖 बन गए हो तुम, 👸
पसंद 😍 तो बहुत आते हो पर समझ 😜 नहीं ❌ आते.
Love quotes in Hindi | Love quotes in hindi with images | Images of love shayari in hindi