जाकिर खान की जीवनी , कोट्स और कविताएं का बेहतरीन कलेक्शन

कोई हक़ से हाँथ पकड़ कर दोबारा
नहीं बैठाता ,सितारों के बीच से सूरज
बनने के कुछ अपने ही
नुक्सान हुआ करते हैं

ज़िन्दगी से कुछ ज्यादा नहीं बस इतनी सी फरमाइश है , अब तस्वीर से नहीं
तफसील से मिलने की ख्वाहिश है 

वो तितली की तरह आई और जिंदगी
बाग़ कर गयी , मेरे जितने भी इरादे
 नापाक उन्हें  पाक कर गयी
 

वो तितली की तरह आई और जिंदगी
बाग़ कर गयी , मेरे जितने भी इरादे
 नापाक उन्हें  पाक कर गयी
 

ज़िन्दगी से कुछ ज्यादा नहीं बस इतनी सी फरमाइश है , अब तस्वीर से नहीं
तफसील से मिलने की ख्वाहिश है 

दोस्ती आईनो से  कभी लम्बी नहीं चलती , इतनी ईमानदारी भी रिश्तों
के लिए अच्छी नहीं होती

जिसे प्यार होता है, उसे होता है
कोई लॉजिक तो होता नहीं है

अपने आप से भी पीछे खड़ा हूँ मैं
जिंदगी कितना धीरे चला हूँ मैं

माना कि तुमको इश्क का तजुर्बा भी
कम नहीं पर हमने भी बाग़ में हैं ,
कई तितलियाँ उड़ाईं

हम दोनों में बस इतना  सा फर्क है उसके
सब लेकिन मेरे नाम से शुरू होते हैं ,
और मेरे सारे काश उस  आकर रुकते हैं 

इश्क को मासूम रहने दो नोटबुक के
आखिरी पन्नो पर , आप उसे किताबों
में डाल कर मुश्किल ना कीजिए 

एकतरफा प्यार की खूबसूरती ये है
कि आप हर दिन जीतते हो
और हर दिन हारते हो

हर एक कॉपी के पीछे कुछ ख़ास
लिखा है , बस इस तरह मेरे इश्क
का इतिहास लिखा है

ये सब कुछ जो भूल गयी थी तुम या शायद जानकर छोड़ा था तुमने ,
अपनी जान से भी ज्यादा संभाल कर है
मैंने सब , जब आओगी तो ले जाना 

बेवज़ह बेवफाओं को याद किया है ,
गलत लोगों पर बहुत वक्त बर्बाद किया है

तुझे खोने का खौफ जबसे निकला है बाहर, तुझे पाने की जिद भी टिक न सकी दिल में…

मेरी ज़मीन तुमसे गहरी है , याद रखना मेरा आसमान भी तुमसे ऊँचा होगा

If No Kajal Look is Statement,
toh Chappal bhi Statement hai…
“Ja… Nahi hounga Taiyar tere liye…”

click more